Home / technology explained / सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?
सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?
सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?

सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन की रोमांचक दास्तान

●A Space Odyssey: Journey With Out Sun●
.
पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव जातियो से इतर, मानव मस्तिष्क की सबसे बड़ी खूबसूरती ये है कि, हम उन चीजो की कल्पनाये भी कर पाते है, जो वास्तव में घटित नही हुई है.. और हमारी ये विलक्षण क्षमता हमें आने वाले खतरों को भांप कर, उनपर योजना बना के अपना अस्तित्व सुरक्षित रखने में मदद करती है।

सूर्य के कारण ही हमें पर्काश मिलता है |

तो चलिए.. आज एक ऐसी रोमांचक कल्पना के सफ़र पर निकलते है, जो है तो काल्पनिक.. लेकिन अपनी छोटी सी मानवीय दुनिया से निकल कर ब्रह्माण्ड के सम्बन्ध में वृहद दृष्टिकोण अपनाने में हम इंसानो के लिए सहायक हो सकती है|

सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?
सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?

तो आइये पूछते हैं, अपने आप से… क्या होगा? अगर… हमारा सूर्य अचानक.. अपनी जगह से गायब हो जाए?

First Come First.. चूँकि सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुचने में लगभग 500 सेकंड का समय लगता है… इसलिए गायब होने के बाद भी, हम सूर्य को स्पेस में 500 सेकंड तक यथावत देखते रहेगे !!!

500 सेकंड बीतते ही.. अचानक सूर्य आसमान से बिना किसी वार्निंग के गायब हो जाएगा।

समस्त पृथ्वी पर अन्धकार छा जाएगा।
पृथ्वी के जिन हिस्सों में उस वक़्त रात होगी… वे अचानक चंद्रमा को आसमान से गायब होते हुए देखेगे (क्योंकि चंद्रमा भी सूर्य के प्रकाश के कारण जगमगाता है)

किसी को कुछ समझ नही आएगा… वे रात ढलने का इन्तजार करेगे ताकि सुबह इस अजीबोगरीब घटना के विषय में लोगो से बात की जा सके|

लेकिन.. दुर्भाग्य से… काफी इन्तजार के बाद भी… उनकी सुबह नही आएगी
जी हाँ.. सूर्य के जाने के बाद… पृथ्वी के हर हिस्से में सिर्फ रात ही हुआ करेगी !!!
किसी को इस अजीबोगरीब शाश्वत रात का रहस्य समझ नही आएगा…

निराशा, अफवाह और भय का बाजार गर्म होने लगेगा और भय मिश्रित आतंक की छाया पृथ्वी को अपनी गिरफ्त में ले लेगी।

सूर्य के गायब होने के लगभग 500 सेकंड बाद ही, पृथ्वी पर से.. सूर्य का ग्रेविटेशनल पुल भी खत्म हो जाएगा और…

उस वक़्त… पृथ्वी जहां भी होगी… उस पॉइंट से सीधी रेखा में 30 किलोमीटर/सेकंड की रफ़्तार से एक धनुष से छूटे तीर के मानिंद.. पृथ्वी स्पेस में एक अंतहीन मुक्त सफ़र पर निकल जायेगी।
.
सूर्य के जाने के बाद.. कोयले,पेट्रोलियम, न्यूक्लियर फ्यूल की उपलब्धता तक हम अपने शहरो को पूर्व की भाँति रोशन रख पायेगे।
लेकिन हमारी चिंता का मुख्य विषय भोजन होगा क्योंकि..

सूर्य के जाते ही पौधो द्वारा भोजन बनाना तुरंत प्रभाव से रुक जाएगा। गौरतलब है कि वर्तमान में हमारी 99.99% खाद्य जरूरते प्रकाश संश्लेषण क्रिया पर ही आश्रित हैं।
विश्व की अधिकांश वनस्पति तुरंत दम तोड़ देगी।

वर्षो तक भोजन संचय में सक्षम कुछ पौधे बेशक बच जाए लेकिन थल-जल-नभ् की खाद्य श्रृंखलाएँ अभूतपूर्व रूप से ध्वस्त हो जायेगी।

भोजन की अनुपलब्धता पृथ्वी पर मार काट, लूटपाट की अनेको घटनाओ को जन्म देने लगेगी और भूखे पेट कोई भी आर्मी अथवा सेना आपकी सुरक्षा में समर्थ नही होगी।

सूर्य के जाने के एक हफ्ते बाद पृथ्वी का औसत तापमान लगभग -20 डिग्री होगा। इस तापमान में हम बेशक सर्वाइव कर सकते है लेकिन… दो महीने बीतते बीतते तापमान अभूतपूर्व रूप से -100 डिग्री तक गिर चुका होगा।

इतने कम तापमान पर… हमारा गैसों से बना वातावरण बर्फ के रूप में जम कर “ऑक्सीजन-नाइट्रोजन स्नो” के 100 मीटर ऊँचे बर्फ के ढेर के रूप में पृथ्वी पर आ गिरेगा। पृथ्वी पर मौजूद सभी महासागर जम जायेगे..

ब्रह्माण्ड में मौजूद सितारों,ब्लैक होल्स, सुपर नोवा आदि से आते घातक रेडिएशन तथा चार्ज पार्टिकल्स वातावरण से विहीन स्पेस में सफ़र करती पृथ्वी की जमीन पर सीधा हिट करेगे और डीएनए को डैमेज करने में सक्षम इन घातक किरणों से स्वयं को बचा पाना किसी भी इंसान के लिए संभव नही होगा

विषम तापमान और जैविक परिस्थितियों तथा भोजन की अनुपलब्धता के बीच… बचे खुचे सक्षम मानवो के पास किसी स्पेस शिप में सवार होकर किसी अन्य जीवन के लिए अनुकूल ग्रह पर कूच कर जाने के अतिरिक्त जीवन सुरक्षित रख पाने का कोई उपाय नही होगा।

पीछे रह जायेगी.. एक बर्फ से ढकी, इंसानो के निराशाजनक अंत का साक्षात्कार कर चुकी,एक निर्जीव दुनिया… हमारी अपनी पृथ्वी !!!
एक ऐसी पथरीली बर्फीली दुनिया.. जिसपर कभी हम इंसानो की गम की किलकारियां, हमारी खुशियो के कहकहे गूंजते थे पर…

अब इस दुनिया में सिर्फ इंसानी अधूरी हसरतो की इबारतें बर्फ के ढेर के नीचे दफ़न हैं।

मानवो के अंत की इस निराशाजनक दास्तान का एक सकारात्मक पहलु ये भी है कि..

पृथ्वी पर से जीवन का पूर्णतया अंत नही होगा।
समुद्र के तल में पाये जाने वाले सूक्ष्म माइक्रो ऑर्गेनिस्म,

सूर्य की अपेक्षा पृथ्वी के केंद्र से आने वाली ऊर्जा से अपना भोजन बनाते है|

इसलिए सूर्य के जाने के अरबो साल बाद भी, इन समुद्री जीवो की सेहत पे कोई असर नही पड़ेगा |

और इस तरह देखा जाए तो… समुद्र की तलहटी में जीवन के बीज अरबो वर्षो तक सुरक्षित रहेगे।
.
ये सोचना एक बेहतरीन एहसास है कि,

एक निर्जीव बर्फ के टुकड़े की बजाय, पृथ्वी एक स्पेस शिप के समान होगी।
ब्रह्माण्ड में 30 किलोमीटर/सेकंड की गति से “जीवन के बीज लिए” स्पेस में मुक्त सफ़र पर चलता एक स्पेस शिप !!!
पृथ्वी का ये सफ़र अगले एक अरब वर्षो में उसे ना जाने कितने सितारों के करीब ले जाएगा… किसे पता?

शायद पृथ्वी एक ना एक दिन किसी सितारे के ग्रेविटेशनल पुल की सीमा में आके,

उस सितारे के ऑर्बिट में गिर कर, उस सितारे के चक्कर लगाने लगे।
उस सितारे की गर्मी से.. महासागरो की बर्फ पिघलनी शुरू हो,

वातावरण फिर उठना शुरू कर दे और जीवन की अनुकूल परिस्थितियों के बीच..

समुद्री जीव फिर से एक बार जमीन पर आ के “एवोल्यूशन” की प्रक्रिया को शुरू कर सके।
और शायद…

करोडो सालो के क्रमिक विकास के बाद.. फिर से पृथ्वी पर… “होमो सेपिएन्स” अपनों कदमो के निशान बना पाये।
.
क्या पता.. शायद वक़्त के साथ स्मार्ट होते वे होमो सेपिएन्स मानव,

एक दिन जमीन के नीचे दफ़न हो चुकी अपने पूर्वजो की कहानियो के अनकहे पन्नो की इबारतें टटोलने लगे।
किसे पता.. शायद एक दिन ढ़ूढ़ते ढूंढते… वे फेसबुक के सर्वर तक पहुच जाए
और.. शायद इस पोस्ट को भी पढ़ लें !!
.
Well… In That Case…
Hey… Hello… भविष्य के मानव !!!
मायसेल्फ.. विजय कुमार झकझकिया
.
मैं नही जानता कि तुम कैसे दिखते हो या कैसे सोचते हो लेकिन इतना जरूर जानता हूँ कि..

अगर समय के पन्नो को खंगालते हुए तुम इस पोस्ट को ढूंढ पाये हो तो इसका एक ही निहितार्थ है
और वे ये कि… समय और काल की सीमाओ से परे.. “जिज्ञासा” प्रकृति द्वारा प्रदत्त जीवन का मूल तत्व है !!!
.
इस जिज्ञासा को हमेशा बनाये रखना दोस्त !!!
Stay Human… Stay Curious !!
And Yes..
As Always..
Thanks For Reading !!!

credit :- vijay singh thakurai


Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Check Also

cello tape

cello tape से जुड़े रोचक तथ्य और जानकारी (हिंदी में)

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.topic of the day cello tape ●Science …

जीरो पर्सेंट फाइनेंस

जीरो पर्सेंट फाइनेंस स्‍कीम क्या होती है, पूरी जानकारी

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.दोस्तों आज हम बात करेंगे 0% finance …

youtube se paise kaise kamaye

youtube se paise kaise kamaye puri jankari hindi me

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.hello dosto aaj ham baat karenge youtube …

Leave a Reply