Home / technology explained / cello tape से जुड़े रोचक तथ्य और जानकारी (हिंदी में)
cello tape
cello tape

cello tape से जुड़े रोचक तथ्य और जानकारी (हिंदी में)

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

topic of the day cello tape
●Science F(r)iction At Your Home: Sticky Tapes●

cello tape पर एक छोटा सा प्रयोग –

गिफ्ट रैपिंग आदि के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्कॉच टेप से आप सभी परिचित होंगे। आज रात एक काम कीजियेगा। कमरे की सभी लाइट बन्द कर के अंधेरा कर दीजियेगा। 5 मिनट के बाद जब आपकी आँखे अंधेरे के अभ्यस्त हो जाए तो… हाथ में स्कॉच टेप पकड़ के, टेप का एक सिरा पकड़ियेगा…

और एक झटके से… टेप को छीलते चले जाइएगा
आप पायेगे कि… जैसे जैसे सेलो टेप छिल कर उतरती जायेगी… वैसे वैसे वो रौशनी के स्पार्क पैदा करेगी.. जिसे नंगी आँखों से देखा जा सकता है।

cello tape में.. टेप की Adhesive वाली परत, cello tape के दूसरे हिस्से पे चिपकी होती है।

जब ये दो परते एक दूसरे के कांटेक्ट में आती है तो एक परत के इलेक्ट्रॉन्स दूसरी परत में समा जाते है।

इस प्रकार.. एक परत पॉजिटिव तो दूसरी परत नेगेटिव चार्ज हो जाती है।
जब आप एक परत को तेजी से उखाड़ना शुरू करते है तो दोनों परतो के बीच इलेक्ट्रॉन्स तेजी से दोनो परतो के बीच चार्ज को न्यूट्रल करने के लिए भागते हैं।
और इस प्रकार.. तेजी से भागते अथवा Accelerated हुए ये इलेक्ट्रॉन्स फोटांस के रूप में एनर्जी रिलीज करते हैं।

चूँकि पृथ्वी पर वातावरण यानी हवा के अणुओ की मौजूदगी इन इलेक्ट्रॉन्स के रास्ते में अवरोध बन जाती है|

इसलिए इलेक्ट्रॉन्स द्वारा रिलीज करी गई एनर्जी कुछ ख़ास नही होती
पर अगर यही प्रयोग अगर स्पेस के वैक्यूम यानी हवा रहित वातावरण में दोहराया जाए तो.. प्राप्त परिणाम आपको दांतो तले ऊँगली दबा लेने के लिए मजबूर कर सकते है।

वैज्ञानिको द्वारा cello tape पर किये गए कुछ प्रयोग –

साल 2009 में कैलिफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी के कुछ वैज्ञानिको ने प्रयोगशाला में कृतिम वैक्यूम का निर्माण करके ये Tape Peeling का प्रयोग किया था
और उन्होंने पाया कि…
हवा की अनुपस्थिति में गति करते इन मुक्त इलेक्ट्रॉन्स का एनर्जी लेवल 15 किलो इलेक्ट्रान वोल्ट तक पहुच जाता है,
और स्पेस के वातावरण में ये इलेक्ट्रॉन्स अत्यधिक ऊर्जा वाले Xray फोटांस रिलीज करने में भी सक्षम है।
सुनके आपको विश्वास ना हो लेकिन
वैज्ञानिक…एक सेकंड में 3 CM की दर से सिर्फ एक सेलो टेप को छील कर उससे प्राप्त Xray Photons की मदद से अपनी एक ऊँगली का Xray करने में भी कामयाब हुए है।

अब चूँकि टेप निर्माता कंपनिया व्यापारिक प्रतिस्पर्धिता के कारण Adhesive Composition को बताने से हिचकती है
और इस क्षेत्र में बहुत ज्यादा रिसर्च करने में किसी ने ख़ास रूचि नही दिखाई है |

ये भी पढ़ें ->> सूर्य के बिना पर्थवी पर जीवन कैसा होगा

इसलिए अभी हम इस प्रक्रिया के सिर्फ परिणाम से वाकिफ है। प्रक्रिया को ठीक से समझना अभी बाकी है।
लेकिन
वैज्ञानिको के अनुसार चूँकि इस्तेमाल टेप दोबारा इस्तेमाल में लाने पर भी फोटॉन रिलीज करती है,

इसलिए इस फील्ड में और रिसर्च करके,

इस खोज की सहायता से भविष्य में बिजली की समस्या वाले क्षेत्रो में सुगम और सस्ती XRay सुविधा उपलब्ध कराने में सफलता पाई जा सकती है।

खैर आज आपने cello tape के बारे में कुछ जाना है |

बहरहाल ये सोचना भी एक सुखद एहसास है कि..

वैज्ञानिक दृष्टिकोण के साथ घर के किसी कोने में पड़ी गैर जरुरी प्रतीत होने वाली चीजे भी आपको ब्रह्माण्ड के विषय में बहुत कुछ सिखा सकती है,

और कही ना कही मानवता की सेवा का साधन भी बन जाती है।
All You Need Is Scientific Approach In Your Life !!!
So Stay Curious !!!


And As Always
Thanks For Reading !!

ये भी पढ़ें ->> इन्टरनेट से पैसे कैसे कमाए घर बैठे

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Check Also

जीरो पर्सेंट फाइनेंस

जीरो पर्सेंट फाइनेंस स्‍कीम क्या होती है, पूरी जानकारी

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.दोस्तों आज हम बात करेंगे 0% finance …

सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?

सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन कैसा होगा ?

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.Contents1 सूर्य के बिना पृथ्वी पर जीवन …

youtube se paise kaise kamaye

youtube se paise kaise kamaye puri jankari hindi me

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.hello dosto aaj ham baat karenge youtube …

Leave a Reply